इंटरनेट गोपनीयता विषय

बहुत-से बच्चे इंटरनेट के कुशल संचालक होते हैं। वे कंप्यूटर का प्रयोग सुविधापूर्वक करते हैं एवं माउस के एक क्लिक से मिलनेवाली जानकारी या इमेज के प्रति आकर्षित रहते हैं। नवीनतम आंकडे बताते हैं कि स्कूल जानेवाले 90% बच्चे घर पर या स्कूल में कंप्यूटर का प्रयोग करते हैं। दूसरों बात एवं संपर्क कर सकना बच्चों के लिये इंटरनेट के आकर्षणों में से एक बहुत बड़ा आकर्षण है। लोकप्रिय ऑनलाइन गतिविधियों में मोबाइल से संदेश भेजना, गेम खेलना, प्रतियोगिताओं में भाग लेना एवं फॉर्म भरने जैसी बहुत-सी गतिविधियों में समय बिताते हुए इन्हें देखा जा सकता है। दुर्भाग्यवश, बहुत-से अभिभावकों को यह ज्ञात ही नहीं होता कि इन गतिविधियों के कारण उनके बच्चों की गोपनीयता या सुरक्षा भी खतरे/जोखिम में आ सकती है। भारत में यह बहुत ही आश्चर्यजनक तथ्य दिखाई देता है कि कुछ अभिभावकों को उनके बच्चे इंटरनेट की किस गतिविधि में भाग ले रहे हैं यह पता ही नहीं होता।.

आज की इंटरनेट संचार संकल्पना में, व्यक्तिगत विवरण मूल्यवान है एवं उसे सुरक्षित रखना एक कुशलता बन गई है जो बच्चों को समझ लेना आवश्यक है।.

कुछ ऑनलाइन गतिविधियों में बच्चों की गोपनीयता समझौते की स्थिति में आ सकती है

  • विविध सर्वेक्षणों, प्रतियोगिताओं के लिये फॉर्म भरना, व्यावसायिक या निशुल्क वेब साइटस् से गेम डाउनलोड करना
  • ई-मेल या चैट एक्सेस करने के लिये पंजीकरण करते समय व्यक्तिगत जानकारी भरना
  • फ्री गेम डाऊनलोड्स के रजिस्ट्रीकरण के समय जानकारियाँ उपलब्ध कराना।
  • सोशल नेटवर्किंग वेबसाईट्स के रजिस्ट्रीकरण के समय जानकारियाँ उपलब्ध कराना।

अभिभावकों के लिये टिप्स्

ऑनलाइन रहते हुए व्यक्तिगत जानकारी की सुरक्षा का महत्व बच्चों को सिखाने में अभिभावकों की भूमिका अहम होती है।.

अपने बच्चों को सिखाएँ

  • >उनकी व्यक्तिगत जानकारी एवं परिवार के मूल्यों के बारे में.
  • इंटरनेट में भाग लेने के लिये इंटरनेट एथिक्स (लिंक्स) के बारे में.
  • चैट रूम्स, बुलेटिन बोर्डस्, इंस्टंट मेसेजिंग या वेब साइटस् पर विजिट करते हुए अपनी व्यक्तिगत जानकारी न देकर गोपनीयता को सुरक्षित रखना जिसमें नाम, लिंग, आयु, घर का पता, ई-मेल पता, दूरभाष क्रमांक, फोटाग्राफ, क्रेडिट कार्ड जानकारी या पासवर्डस् का समावेश है
  • आपके बच्चे जिन पर विजिट करते हैं उन साइटस् को देखें, और यह भी देखें कि किस प्रकार की जानकारी साइट पर पूछी जा रही है या बच्चों को पोस्ट करने की अनुमति दें (बच्चों की गतिविधि को उनके पीसी पर कैसे चेक करें).
  • इंटरनेट के खतरे/जोखिम एवं फायदे के बारे में बच्चों से बात करें.
  • किसी वेब साइट की पहुँच के बारे में बतानेवाली गोपनीयता नीती/प्राइवेसी पॉलिसी को देखना सीखें.
  • इंटरनेट पर व्यक्तिगत जानकारी देने के लिये अभिभावक, शिक्षकों से अनुमति लें.
  • किसी भी संदेहास्पद गतिविधि के बारे में बड़ों की मदद से संबंधित प्राधिकरणों को सूचना दें.
  • दिशानिर्देशों का पालन करें एवं इंटरनेट की गतिविधियों की सुरक्षा करें.
  • बच्चों को जेंडर न्युट्रल (जिस नाम से लिंग का पता न चलता हो ऐसे नाम) नामों का प्रयोग करना सिखाएँ, ताकि इंटरनेट पर कोई भी यह जान न सके कि वह जिस से बात कर रहा है वह लड़का है या लड़की.
  • एक अभिभावक होने के नाते, आपको बच्चों की गोपनीयता पर ध्यान देना होगा, साइट से लिया हुआ डाटा एवं आपके निजी गोपनीयता पर वेब साइट की सुरक्षा और बच्चे जब चैट रूम में, संदेश बोर्डस् और ई-मेल गतिविधियों में सहभागी हो रहे हों तब उनकी सुरक्षा के लिये क्या कदम उठाए जा रहे हैं।.
Page Rating (Votes : 0)
Your rating: