ऑनलाइन प्रिडेटर्स ऐसे इंटरनेट उपयोगकर्ता हैं, जो बच्चों एवं किशोरों का यौन या हिंसक प्रयोजनों के लिए शोषण करते हैं। इसमें बच्चों की ग्रूमिंग, यौन गतिविधियों में लगाना, सामग्री एवं चित्रों का अवांछित प्रदर्शन, ऑनलाइन उत्पीड़न, जोखिम या भय की धमकियाँ समाविष्ट हैं। यह एक ऑनलाइन उत्पीड़न है।.

ऑनलाइन प्रिडेटर्स द्वारा उपयोग में लाए जाने वाले संचार उपकरण

ऑनलाइन प्रिडेटर्स संचार उपकरण जैसे सामाजिक नेटवर्किंग, ईमेल, चैट रूम्स, त्वरित संदेशन का उपयोग करते हैं एवं व्यक्तिगत बैठकों के लिए ग्रूमिंग प्रक्रिया का उपयोग करते हैं।.

  • सामाजिक नेटवर्किंग वेब साइटों के उपयोग से : सामाजिक नेटवर्किंग वेब साइट उपयोगकर्ताओं के विचार व्यक्त करने, फ़ोटो को बाँटने एवं वेबसाइटों पर वीडियो को पोस्ट करने के लिए लोकप्रिय है। ऑनलाइन प्रिडेटर्स इन वेब साइटों का लाभ उठाते हैं एवं एक बच्चा होने का नाटक कर ऑनलाइन दोस्ती करके आपनकी व्यक्तिगत जानकारी एकितत्र करते हैं एवं धीरे धीरे यौन संचार आरम्भ करते हैं एवं आपको यौन गतिविधियों में संलग्न करने का प्रयास करते हैं।.

Tip : सदैव गोपनीयता सेटिंग्स जैसे सुरक्षा उपाय लें एवं अपने प्रोफ़ाइल का सीमित दृश्य निर्धारित करें।.

  • ई-मेल ऐड्रेस का उपयोग कर के : एक ऑनलाइन प्रिडेटर बच्चों के ईमेल पते एकत्रित करता है एवं उन्हें फोटो, अश्लील साइटों से संबंधित लिंक भेजने शुरू करता है एवं बच्चों के साथ दुर्व्यवहार करने की कोशिश करता है एवं बच्चे को धमकियों द्वारा यौन संचार के लिए आग्रह करता है एवं बच्चों को असहज महसूस कराता है।.

संकेत : अनजान उपयोगकर्त्ताओं की मेल पर ध्यान न दें या उसे हटा दें|.

  • चैट रूम के माध्यम से : ऑनलाइन प्रिडेटर्स चैट रूम में शामिल होते हैं एवं बच्चों के साथ चैट शुरू करते हैं एवं व्यक्तिगत जानकारी एकत्र करने के लिए, विश्वास का निर्माण करते हैं एवं बच्चे के हितों, शौक, व्यक्तिगत तस्वीरें एवं निजि चैट के विषय में पूछकर एवं उपहारों का आग्रह कर, अच्छा दोस्त बनने की कोशिश करते हैं एवं एक बच्चा होने का नाटक करते हैं। कई बार प्रिडेटर्स बहुत दयालु एवं एक बच्चे के प्रति स्नेही बनते हैं एवं धीरे धीरे अपनी बातचीत में यौन विषय शुरू करते हैं एवं बच्चे को माता पिता को न बताना एवं गोपनीयता बनाए रखने के लिए कहते हैं। यदि कोई बच्चा सहमत नहीं हो, वे धमकी एवं दुर्व्यवहार से उन्हें जवाब देते हैं।.

Tip : ऑनलाइन मित्रों से व्यक्तिगत जानकारी जैसे हित, शौक, एवं परिवार के विवरण को छिपाने का सुझाव दिया जाता है।.

  • ग्रूमिंग प्रक्रिया के द्वारा : एक ऑनलाइन प्रिडेटर एक झूठा विश्वास, रिश्ते बनाता है एवं बच्चे के प्रतिरोध को तोड़ता है एवं आमने सामने बैठक करने की कोशिश करता है।.

Tip : किसी अजनबी से प्रभावित होकर अपनी आदतों एवं विचारों को न बदलें. यदि आप अपने ऑनलाइन मित्र से मिलना चाहते हैं तो अपने माता पिता को साथ ले जाएँ।.

ऑनलाइन प्रिडेटर्स द्वारा धमकी :

जब आप ऑनलाइन प्रिडेटर्स के साथ चैट नहीं करना चाहते वे आपको धमकियाँ देते हैं एवं आपके परिवार के सदस्यों एवं दोस्तों को नुकसान पहुँचाने की धमकियाँ देकर आपको व्यक्तिगत बैठक के लिए मजबूर करना शुरू करते हैं।.

Tip : धमकियों से न डरें अपने माता पिता को सूचित करें एवं पुलिस में रिपोर्ट करें।.

  • ऑनलाइन प्रिडेटर्स से कैसे बचें? : यदि कोई आपको उपहार का आग्रह करता है या बिना किसी भी कारण के आपसे मिलना चाहता है एवं आपकी ओर बहुत स्नेही बनने की कोशिश करता है - यह एक ऑनलाइन प्रिडेटर के लक्षण हो सकते हैं।
  • आपको गुमराह करने की कोशिश की तकनीकियों को पहचानें : यदि कोई आपको उपहार का आग्रह करता है एवं बिना किसी भी कारण के आपसे मिलना चाहता है एवं आपकी ओर बहुत स्नेही बनने की कोशिश करता है, सचेत रहें कि यह एक ऑनलाइन प्रिडेटर की आपको गुमराह करने की चालें हैं।.
  • उपनाम का उपयोग करें : सुनिश्चित करें आप अपने उपयोगकर्ता नाम का चयन करें एवं अपने असली नाम का उपयोग न करें।.
  • आपके ऑनलाइन प्रोफाइल में अपनी व्यक्तिगत विवरण न भरें। : सामाजिक नेटवर्किंग पर, जहां हर कोई अपका विवरण देख सकता है, अपनी व्यक्तिगत जानकारी पोस्ट न करें।.
  • ऑनलाइन चैटिंग के लिए नियम निर्धारित करें : नियम जैसे समय सीमा निर्धारित करें एवं माता पिता के मार्गदर्शन में इंटरनेट का प्रयोग करें एवं सुनिश्चित करें कि कंप्यूटर सामान्य कमरे में रखा जा रहा है।.
  • लिंग, घर एवं स्कूलों की समस्याओं जैसी चैट से बचें : सदैव आपके लिंग, उम्र, स्थान जैसे विषयों से संबंधित बातों से बचें, एवं घर एवं स्कूल की समस्याओं का न बाँटें।.

यदि आप संकट में हैं

डरिए मत : शांत रहें, चैटिंग रोक दें एवं चैट रूम से बाहर निकल जाएँ या लॉग ऑफ कर दें।.

ना कहने में न डरें : यदि आप प्रिडेटर के द्वारा कहा गया काम करने को तैयार नहीं हैं ना कहने में न डरें।.

माता पिता को सूचित करें : यदि आपको कोई धमकाता है, तुरंत अपने माता पिता को सूचित करें।.

सबूत के रूप में अपने वार्तालाप के एक स्क्रीन शॉट लें एवं आप पुलिस को रिपोर्ट करेंगे ऐसा कहिए : यदि कोई बुरी भाषा या धमकी का उपयोग करता है, आपकी बातचीत की एक स्क्रीन शॉट लें एवं उन्हें बताएँ कि आप पुलिस को रिपोर्ट करेंगे।.

लॉग ऑफ न करें : यदि कोई आपसे दुर्व्यवहार करने की कोशिश करता है तुरंत लॉग ऑफ न करें, माता पिता को सूचित एवं कानून प्रवर्तन को सूचित करें।.

साइबर पुलिस से संपर्क करें : यदि कोई ज्यादती करता है जैसे परिवार के सदस्यों को नुकसान पहुँचाने की धमकी देता है, तुरंत साइबर पुलिस से संपर्क करें।.

Page Rating (Votes : 124)
Your rating: