ऑनलाइन घोटाला धन प्राप्त करने के लिए आपको फंसाने का एक प्रयास है। ऑनलाइन घोटाले कई प्रकार के हैं; इनमें धन प्राप्त करने के लिए फर्जी नाम, फर्जी फोटो, फर्जी ई-मेल्स, जाली दस्तावेजों, नौकरी के फर्जी ऑफ़र्स के साथ कई अन्य चीजें शामिल हैं।

आमतौर पर, यह आपके व्यक्तिगत विवरण जैसे ऑनलाइन बैंकिंग विवरण, क्रेडिट कार्ड विवरण के लिए नकली ई-मेल भेजने से होता है। कभी-कभी फर्जी नोटिस के साथ लॉटरी कंपनियों से ई-मेल भेजे जाते हैं, जब भी आप ऑनलाइन नीलामी में भाग लेते हैं और नकली उपहार के लिए ई-मेल प्राप्त होते हैं। साइबर अपराधी भोले-भाले लोगों को ठगने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं।

स्कैमर्स महिलाओं को कैसे निशाना बनाते हैं

  • डेटिंग और रोमांस से जुड़े घोटाले

यह अक्सर ऑनलाइन डेटिंग वेबसाइटों के माध्यम से होता है, लेकिन स्कैमर संपर्क बनाने के लिए सोशल मीडिया या ईमेल का उपयोग भी कर सकते हैं। यहाँ तक कि वे पीड़ितों को पहले परिचय के रूप में टेलीफोन करने के लिए भी जाने जाते हैं। इन घोटालों को 'कैटफ़िशिंग' के नाम से भी जाना जाता है। स्कैमर्स आमतौर पर आपको लुभाने के लिए डिज़ाइन किए गए नकली ऑनलाइन प्रोफाइल बनाते हैं। वे एक काल्पनिक नाम का उपयोग कर सकते हैं, या असली, विश्वसनीय लोगों जैसे सैन्य कर्मियों, सहायता कर्मियों या विदेश में काम करने वाले पेशेवरों की पहचान को गलत तरीके से खुदके लिए प्रस्तुत सकते हैं। वे अपेक्षाकृत कम समय में आपके लिए भावनाएं तीव्रता से व्यक्त करेंगे। वे आपकी रुचि और विश्वास हासिल करने के लिए काफे हद तक आगे चले जाएंगे, जैसे कि आपके लिए प्यार भरे शब्दों की बौछार, ‘व्यक्तिगत जानकारी’ साझा करना और यहां तक ​​कि आपको उपहार भी भेजना।

एक बार जब वे आपका भरोसा हासिल कर लें और आपके द्वारा स्वयं के बचाव में ढिलाई आ गई हो, तो वे आपसे (या तो परोक्ष रूप से या सीधे) पैसे, उपहार या आपके बैंकिंग/क्रेडिट कार्ड के विवरण मांगेंगे। वे आपको स्वयं के चित्र या वीडियो भेजने के लिए भी कह सकते हैं, जो संभवतः अंतरंग प्रकृति के भी हो सकते हैं।

  • लॉटरी घोटाला

कभी-कभी आपको इस तरह का एक ईमेल / एसएमएस प्राप्त होता है कि "आपने लॉटरी जीती है"; इस तरह के मेल / एसएमएस प्राप्त करना बहुत अच्छी बात है, और वास्तव में यह सबसे खुशी की बात है। इस तरह के मेल / एसएमएस का जवाब देने से आप भारी मात्रा में धनराशि से हाथ धो बैठेंगे, क्योंकि ऐसे ई-मेल / एसएमएस सच नहीं होते हैं, स्कैमर्स पैसे प्राप्त करने के लिए आपको बेवकूफ बनाने और फंसाने की कोशिश करते हैं।

  • नकली क्विज़ जो आपकी जानकारी निकालती हैं

आपने फिल्मों या वीडियो गेम्स से प्रेरित पोस्ट्स  और क्विज़ेस को देखा होगा। मूल रूप से, आप प्रश्नों के एक सेट का उत्तर देते हैं और फिर क्विज़ आपको बताती है कि आप किस फिल्म के चरित्र की तरह हैं या इसी तरह आपके व्यक्तित्व का कुछ अन्य मूल्यांकन करती है। अक्सर, ये क्विज़ेस गोपनीयता से जुड़े घोटालों का तरीका होती हैं जो आपके उत्तर एकत्र करती हैं और फिर उन्हें तीसरे पक्ष को बेच देती हैं। इनमें से कई क्विज़ेस में उन्हें पूरा करने के लिए " लॉगइन विद फेसबुक" बटन होता है। यह उस वेबसाइट / ऐप को आपकी सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे ईमेल, स्थान, भाषा, नौकरी आदि प्रदान कर देता है।

  • ईमेल स्कैम जैसे कि – बधाई! आपने वेब कैमरा, डिजिटल कैमरा, या अविश्वसनीय राशि का नकद पुरस्कार जीता है, आदि।

कभी-कभी आपको संदेश के साथ एक ई-मेल मिलता है जैसे - आपने डिजिटल कैमरा वेब कैमरा जैसा कुछ विशेष जीता है, बस आपको नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके हमारी वेब साइट पर जाना होगा और सामान भेजने व प्रबंधन के खर्च की पूर्ति के लिए अपने डेबिट या क्रेडिट कार्ड का विवरण प्रदान करना होगा। हालांकि आइटम कभी नहीं आता है लेकिन कुछ दिनों के बाद आपके बैंक खाते पर शुल्क दिखाए जाएंगे और आप पैसे खो देंगे।

  • कर घोटाला

पीड़ित व्यक्ति से कोई ऐसा व्यक्ति संपर्क कर्ता है जो स्वयं का किसी सरकारी एजेंसी से होने का दावा करता है, और कहता है कि आपके द्वारा करों के लिए पैसा जमा करना बाकी है, और गिरफ्तारी, निर्वासन या ड्राइवर्स लाइसेंस/पासपोर्ट के निलंबन से बचने के लिए तुरंत उसका भुगतान करें। पीड़ित व्यक्ति को निर्देश दिया जाता है कि वह करों का भुगतान करने के लिए मनी ट्रांसफर भेजें या प्री-लोडेड डेबिट कार्ड खरीदे। सरकारी एजेंसियां ​​कभी भी पहले बिल भेजे बिना करों के तत्काल भुगतान की मांग या उसको लेकर कॉल, नहीं करेंगी। आमतौर पर, ऐसी वेबसाइट्स  आधिकारिक वेबसाइट्स की तरह महसूस होती हैं और इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से टैक्स रीफंड जमा करने के नाम पर करदाताओं के क्रेडिट कार्ड, एटीएम का सीवीवी पिन और अन्य व्यक्तिगत विवरण मांगती हैं।

  • निष्क्रिय नकली दोस्त और फॉलोअर्स जो आपके खाते की निगरानी करते हैं

सोशल मीडिया पर आपके ऐसे दोस्त हो सकते हैं जिनसे आप वास्तव में कभी नहीं मिले हों और यह भी नहीं जानते कि वे कौन हैं। अपराधी आपसे मित्रता करके इस लापरवाही का फायदा उठा सकते हैं और फिर आपके खाते की निगरानी कर जानकारी एकत्र कर सकते हैं और यह देख सकते हैं कि आपकी आगे की क्या योजना है। विशेष रूप से, वे शहर या देश से आपके बाहर जाने की आपकी तस्वीरों की तलाश में होंगे, जिसका अर्थ है कि आपका घर संभवतः खाली है और उसमें अन्दर घुसना आसान है।

  • पैसे लुटाने वाले घोटाले

इस तरह के घोटाले - मनी फ्लिपिंग स्कैम - खासतौर पर इंस्टाग्राम पर देखे जाते हैं, जिसमें यूजर को भरोसा दिलाया जाता है कि यदि वह अभी शुरुआती निवेश के रूप में एक छोटी राशि जमा करेगा तो बाद में उसे भारी मात्रा में धनराशि प्राप्त होगी। घोटालेबाज स्वयं का एक ऐसे वित्तीय सलाहकार या इंटरनेट मार्केटर होने का दावा करता है, जिसे निवेश पर 10x रिटर्न प्राप्त करने के लिए विनिमय दरों और स्टॉक की कीमतों में हेरफेर करने का भीतरी ज्ञान है। और आपको बस इतना करना है कि कुछ पैसे जमा करना है, आमतौर पर एक न्यूनतम राशि।

  • नौकरी के नकली ऑफर्स

सोशल मीडिया पर यूज़र मुख्य रूप से अपने रोज़गार की संभावनाओं को बेहतर बनाने के लिए होते हैं, इसलिए नौकरी का प्रस्ताव प्राप्त करने में कुछ भी असामान्य नहीं है। हालांकि, कुछ स्कैमर्स आपको केवल कुछ हफ्तों के लिए काम पर रखते हैं और आपके पहले वेतन से कुछ दिन पहले आपको काम से निकाल देते हैं। आमतौर पर, ये नकली नौकरी आपको घर से काम करने के अवसर का वादा करती है, और यहां तक कि इसमें एक बड़े वेतन पैकेज का दावा भी किया जाता है। अन्य मामलों में, ये प्रोजेक्ट-आधारित कार्य हो सकते हैं, इसलिए आपको पहले काम करना होगा, और उसके बाद ही आपको भुगतान किया जाएगा। हालांकि, जैसी कि आप कल्पना कर सकते हैं, वेतन कभी नहीं आता है।

  • चैरिटी घोटाला

पीड़ित व्यक्ति से अक्सर किसी अन्य व्यक्ति द्वारा ईमेल, मेल या फोन से संपर्क करके आपदा या आपातकाल (जैसे बाढ़, चक्रवात, या भूकंप) जैसी हाल ही में हुई घटनाओं के पीड़ितों के लिए धनराशी ट्रांसफर द्वारा दान देने के लिए कहा जाता है। वैध धर्मार्थ संगठन ट्रांसफर सेवा के माध्यम से कभी भी किसी व्यक्ति के नाम पर धनराशी का दान देने के लिए नहीं कहेंगे।

  • रेंटल प्रॉपर्टी घोटाला

पीड़ित व्यक्ति एक किराये की संपत्ति के लिए पैसे जमा करने हेतु भेजता है लेकिन किराये की संपत्ति तक कभी नहीं पहुंचता है या पीड़ित व्यक्ति संपत्ति का मालिक भी हो सकता है जिसे किराएदार द्वारा एक चेक भेजा जाता है और संपत्ति के मालिक को उसकी राशि का एक हिस्सा मनी ट्रांसफर का उपयोग करके वापस भेजने के लिए कहा जाता है, जबकि चेक में बाउंस हो जाता है।

ऑनलाइन घोटालों से बचने की युक्तियाँ

  • इस तथ्य के प्रति सतर्क रहें कि घोटाले मौजूद हैं।

लोगों या व्यवसायों से बिन बुलाए संपर्कों के साथ काम करते समय, चाहे वह फोन पर हो, मेल से, ईमेल से, व्यक्तिगत संपर्क से या सोशल नेटवर्किंग साइट पर, हमेशा इस संभावना पर विचार करें कि ऐसा संपर्क एक घोटाला हो सकता है। याद रखें, यदि वह यथार्थ में सच होने के लिहाज से बहुत अच्छा लगता है, तो वह शायद घोटाला है।

  • यह जानें कि आप किसके साथ व्यवहार कर रहे हैं।

यदि आप कभी किसी से केवल ऑनलाइन मिले हैं या किसी व्यवसाय की वैधता के बारे में अनिश्चित हैं, तो थोड़ा और शोध करने के लिए कुछ समय निकालें। फ़ोटो के लिए गूगल इमेज सर्च करें या इंटरनेट पर उन अन्य लोगों के लिए सर्च करें जिन्होंने उनके साथ कभी व्यवहार किया हो।

  • इस बात की पुष्टि करें कि ईमेल बैंक से प्राप्त हुआ है या नहीं

बैंक का विवरण ऑनलाइन प्रदान करते समय सतर्क रहें, और आगे बढ़ने से पहले आपको प्राप्त ईमेल के बारे में बैंक के साथ पुष्टि कर लें। यह सोचें कि यदि कुछ महत्वपूर्ण या जरूरी मामला है तो बैंक ने मुझे ईमेल भेजने के बजाय फोन क्यों नहीं किया?

  • शंकास्पद टेक्स्ट्स, पॉपअप विन्डोज़ नहीं खोलें या ईमेल में मौजूद लिनक्स अथवा अटैचमेंट्स पर क्लिक नहीं करें - उन्हें डिलीट कर दें

यदि अनिश्चित की स्थिति है, तो फोन बुक या ऑनलाइन सर्च जैसे एक स्वतंत्र स्रोत के माध्यम से संपर्क की पहचान को सत्यापित करें। आपको भेजे गए संदेश में दिए गए संपर्क के विवरण का उपयोग न करें।

  • सोशल मीडिया पर अपनी गोपनीयता और सुरक्षा सेटिंग्स की समीक्षा करें।

यदि आप फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स का उपयोग करते हैं, तो इस बात की सावधानी बरतें कि आप किससे जुड़ते हैं और यह सीखें कि सुरक्षित रहने के लिए आप अपनी गोपनीयता व सुरक्षा सेटिंग्स का उपयोग कैसे कर सकते हैं। यदि आप संदिग्ध व्यवहार को पहचानते हैं, आपने स्पैम पर क्लिक किया है या आपके साथ ऑनलाइन घोटाला किया गया है, तो अपने खाते को सुरक्षित करने के लिए कदम उठाएं और उसकी रिपोर्ट करना सुनिश्चित करें।

  • ईमेल के माध्यम से आपको प्राप्त होने वाले उत्पाद के बारे में जागरूक रहें

रियायती मूल्य पर मिलने वाले उत्पादों के बारे में जागरूक रहें। यह सोचें कि जब आप कभी भी ऑनलाइन खरीदारी या प्रतियोगिता में भाग नहीं लेते हैं, तो आपको उत्पादों के लिए ईमेल क्यों मिला।

  • लॉटरी/नौकरी के झांसे में न फंसे

स्कैमर्स और इस विषय पंक्ति वाले ई-मेल के झांसे में न आएं कि आप जीत गए हैं; सिर्फ यह सोचें कि आपकी भागीदारी के बिना भी सिर्फ आपको ही यह ईमेल क्यों मिला।

  • ऑनलाइन खरीदारी करते समय सावधान रहें

उन ऑफ़र्स से सावधान रहें जो सच होने के लिहाज़ से कुछ ज़्यादा ही अच्छे प्रतीत होते हैं, और हमेशा एक ऐसी ऑनलाइन शॉपिंग सेवा का उपयोग करें जिसे आप जानते हैं और जिसपर आप विश्वास करते हैं।

Page Rating (Votes : 0)
Your rating: